spritual
Trending

Magh Maas 2023 : जानिये स्नान और दान का महत्व !!

हिंदू पंचांग के अनुसार पौष मास की पूर्णिमा के बाद माघ मास की शुरुआत होती है। जो कल यानी 7 जनवरी 2023 से शुरू हो रहा है

PUBLISHED BY -LISHA DHIGE

Magh Maas 2023 : हिंदू पंचांग के अनुसार पौष मास की पूर्णिमा के बाद माघ मास की शुरुआत होती है। जो कल यानी 7 जनवरी 2023 से शुरू हो रहा है। माघ के महीने को हिंदू धर्म में बहुत पवित्र माना जाता है और इस दौरान स्नान और दान-पुण्य के कार्यों से शुभ फल की प्राप्ति होती है। माघ में प्रयाग, हरिद्वार, वाराणसी, नासिक और उज्जैन जैसे पवित्र स्थानों में गंगा स्नान का विशेष महत्व है। गंगा स्नान के बाद सूर्य देव की पूजा की जाती है और इससे सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है।

Magh Maas 2023
Magh Maas 2023

माघ माह का धार्मिक महत्व

धार्मिक मान्यता के अनुसार माघ मास में ब्रह्मा, विष्णु, महेश, आदित्य, मरुद्गण तथा अन्य सभी देवी-देवता संगम में स्नान करते हैं। कहा जाता है कि माघ मास में यदि कोई व्यक्ति तीन बार गंगा स्नान करता हैMagh Maas 2023 तो उसे दस हजार अश्वमेध यज्ञ के बराबर फल की प्राप्ति होती है।

वहीं माघ के पूरे महीने गंगा स्नान करने वाले व्यक्ति पर भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं. ऐसे व्यक्ति को जीवन में सुख और संतान का सुख प्राप्त होता है। साथ में मोक्ष प्रदान करता है। धर्म शास्त्रों के अनुसार माघ मास में स्नान करने से पाप और कष्टों से मुक्ति मिलती है। नहाने के बाद उपहार देने का भी एक विशेष अर्थ होता है।

यह पढ़े : Chhattisgarh Coronavirus News 2023 : अलर्ट मोड पर छत्तीसगढ़ !

https://bulandmedia.com/5417/chhattisgarh-coronavirus-news-2023/

माघ माह के नियम

माघ का महीना हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता हैMagh Maas 2023 और कहा जाता है कि इस महीने में स्नान और प्रसाद चढ़ाने से सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। हालांकि इस महीने कुछ नियमों का पालन जरूर करना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माघ मास में सत्य, अहिंसा, दया, दान और ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

इसके साथ ही व्यसनों का भी त्याग करना चाहिए। माघ मास में हमेशा सूर्योदय से पहले स्नान करना चाहिए। इस दौरान सूर्योदय से पहले जब आकाश में तारे दिखाई दें तो उस समय स्नान करना अधिक फलदायी माना जाता है।

माघ हिंदू कैलेंडर के अनुसार वर्ष का ग्यारहवां महीना है।Magh Maas 2023 वैसे तो हर महीने का अपना महत्व होता है, लेकिन माघ का महीना विशेष रूप से उपजाऊ माना जाता था। माना जाता है कि इस महीने में किए गए कर्म फल देने वाले होते हैं।

Magh Maas 2023
Magh Maas 2023

Magh Maas 2023

माघ मास की शुरुआत 14 जनवरी से हो रही है।Magh Maas 2023 ऐसे में इस महीने में हर व्यक्ति को कुछ न कुछ काम जरूर करने होते हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे कामों के बारे में बताएंगे जिन्हें माघ के महीने में करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होगी।

गीता का पाठ- माघ के महीने में हर दिन गीता का पाठ जरूर करना चाहिए. इससे भगवान नारायण का आशीर्वाद मिलने के साथ ही मन भी काफी शांत रहता है. ऐसा करने से व्यक्ति के मन में नकारात्मकता नहीं आती है.

जरूर पढ़े : Makar Sankranti 2023: गंगा आरती के साथ करे इन धार्मिक शहरों के दर्शन.

https://bulandchhattisgarh.com/10307/makar-sankranti-2023/

तिल- माघ के महीने में भगवान विष्णु को नियमित तौर पर किल अर्पित करना चाहिए. ऐसा करने से व्यक्ति द्वारा किए गए सभी पाप खत्म हो जाते हैं. इस माह में नियमित तौर पर तिल खाने और पानी में तिल डालकर नहाने से पुण्य की प्राप्ति होती है.

नियमित पूजा- माघ के महीने में नियमित तौर पर पूजा-पाठ करना चाहिए. ऐसा करने से घर में नकारात्मकता दूर होती है. साथ ही आर्थिक स्थिति भी काफी मजबूत होती है. इससे घर में शांति बनी रहती है.

दान- वैसे तो दान को कभी भी करना शुभ माना जाता है. लेकिन माघ के महीने में दान का खास महत्व होता है. इस माह में गर्म कपड़े ऊनी वस्त्र दान करना भी बड़ा ही पुण्यदायी कहा गया है. ऐसा करने से देवी- देवताओं का खास आशीर्वाद मिलता है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button