Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
स्वास्थ्य

उड़द दाल के फायदे व नुकसान !

उड़द की दाल स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत से भी भरपूर होती है. इसे छिलके वाली काली दाल के नाम से भी जाना जाता है

PUBLISHED BY – LISHA DHIGE

उड़द की दाल स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत से भी भरपूर होती है. इसे छिलके वाली काली दाल के नाम से भी जाना जाता है। उड़द की दाल का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाओं में भी किया जाता है। इसका आयुर्वेदिक नाम ‘माशा’ है। प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, विटामिन बी, आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम से भरपूर उड़द की दाल हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

यह गर्भवती महिलाओं के लिए एक स्वास्थ्य पैकेज के रूप में कार्य करता है। तो आइए जानते हैं कि इस उड़द की दाल से हमें और क्या स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं।

डाइजेशन बनाए बेहतर

फाइबर से भरपूर उड़द की दाल घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के पाचन को बेहतर बनाने में फायदेमंद है। उड़द की दाल में मौजूद डाइटरी फाइबर इसमें मदद करता है। दस्त, कब्ज, ऐंठन या पेट फूलने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपने आहार में उड़द की दाल को शामिल करें। इसके अलावा बवासीर और शूल की समस्या को दूर करने और लीवर को मजबूत बनाने में भी उड़द की दाल कारगर है।

द‍िल को रखे सेहतमंद

उड़द की दाल में उच्च मात्रा में फाइबर, मैग्नीशियम और पोटैशियम होता है, जो हमारे हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखता है और एथेरोस्क्लेरोसिस को रोकता है, जिससे हमारा हृदय प्रणाली स्वस्थ रहता है। पोटेशियम शरीर की रक्त परिसंचरण प्रणाली में सुधार करने के साथ-साथ आपकी धमनी की दीवारों को किसी भी तरह की क्षति को रोकने में मदद करता है।

बॉडी में बढ़ाए एनर्जी लेवल

उड़द की दाल आयरन से भरपूर होती है, जो आपके शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है और आपको सक्रिय रखती है। आयरन लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है, जो आपके शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार होती हैं। जिन गर्भवती महिलाओं में आयरन की कमी होती है, उनके लिए आयरन से भरपूर उड़द की दाल का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। उड़द की दाल का नियमित सेवन करने से शरीर में आयरन के साथ-साथ एनर्जी भी बनी रहती है।

हड्डियों को बनाए सेहतमंद

उड़द की दाल में मैग्नीशियम, आयरन, पोटैशियम, फॉस्फोरस और कैल्शियम जैसे महत्वपूर्ण खनिज होते हैं, जो अस्थि खनिज घनत्व में सुधार करने में भूमिका निभाते हैं। नियमित रूप से उड़द की दाल का सेवन करने से आपको हड्डियों से संबंधित समस्याओं को रोकने में मदद मिलेगी और आपकी हड्डियां स्वस्थ रहेंगी।

नर्वस स‍िस्टम से जुड़ी बीमार‍ियों में कारगर

उड़द की दाल हमारे नर्वस सिस्टम को मजबूत करने के अलावा हमारे दिमाग को भी स्वस्थ बनाती है। तंत्रिका तंत्र की कमजोरी, पक्षाघात, चेहरे का पक्षाघात और कई अन्य बीमारियों को ठीक करने के लिए इसका उपयोग विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है।

डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार

फाइबर से भरपूर उड़द की दाल आपके शुगर और ग्लूकोज के स्तर को बनाए रखने में मदद करती है, जिससे आपका मधुमेह नियंत्रण में रहता है।

दर्द और सूजन को करे कम

जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द और सूजन से तुरंत राहत पाने के लिए उड़द की दाल का लेप दर्द वाली जगह पर लगाने से आराम मिलता है। इसके अलावा यह किसी भी तरह की त्वचा की जलन को कम करने, टैन और सनबर्न से छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है। इसके अलावा उड़द की दाल में उच्च मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते हैं, जो आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करते हैं। उड़द की दाल आपके ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में भी मदद करती है।

bulandmedia

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button