Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
अपराधछत्तीसगढ़
Trending

कार की डिक्की में भरे थे नोट, देख कर पुलिस वालों के उड़े होश…

दुर्ग। जिला पुलिस ने एक निजी कार से भारी मात्रा में कैश बरामद किया है। चेकिंग के दौरान पुलिस ने कार की डिक्की से 2 करोड़ 64 लाख कैश बरामद किए हैं। कार्रवाई के दौरान डिक्की के अंदर भारी मात्रा में कैश देखकर पुलिस के भी होश उड़ गए। पुलिस ने वाहन और कैश जब्त कर इसकी सूचना आईटी विभाग को दे दी है।

दरअसल, ये पूरा मामला थाना भिलाई भट्ठी क्षेत्र का है। दुर्ग एसएसपी राम गोपाल गर्ग ने जिले में अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के निर्देश दिये है। दुर्ग पुलिस द्वारा टीम गठित कर अवैध कारोबार पर लगातार नजर भी रखी जा रही है। इसी के तहत थाना भिलाई भट्ठी एवं एसीसीयू की संयुक्त टीम को एसबीआई बैंक के पास सेक्टर-1 भिलाई में दो कार खडी होने व उसमें सवार संदिग्ध व्यक्तियों द्वारा अवैध कारोबार से प्राप्त रूपयो का लेनदेन करने की सूचना मिली।

थाना भिलाई भट्ठी एवं एसीसीयू की संयुक्त टीम द्वारा मौके पर घेरीबंदी कर ब्रेजा वाहन क्रमांक CG07 CM 4883 व क्रेटा वाहन क्रमांक CG07 BX 6696 में सवार तीन व्यक्ति को पकड़ा। पुलिस पूछताछ में संदिग्ध लोगों ने अपना नाम गोविन्द चन्द्राकर पिता स्व. पंचम लाल चन्द्राकर उम्र 57 वर्ष निवासी औरी भिलाई, विशाल कुमार साहू पिता अशोक साहू उम्र 28 वर्ष सा. क्वा.नं. 32ए सडक 7 सेक्टर 01 भिलाई थाना भिलाई भट्टी, पंकज साव पिता स्व. सुंदर साव उम्र 30 वर्ष सा. बैकुण्ठ धाम के पास कैम्प-2 भिलाई थाना छावनी का होना बताये।

दोनों कार की तलाशी ली गई। जांच में क्रेटा वाहन क्रमांक CG07 BX 6696 की डिक्की से भारी मात्रा मे नगदी मिली। रकम के संबंध मे पूछताछ करने पर कार सवारों के द्वारा संतोष जनक जवाब नहीं दिया गया, जिसके बाद पुलिस ने तीनों व्यक्तियों और वाहनो को भिलाई भट्ठी लाया गया। कार की डिक्की से बरामद नगद 2,64,00,000/- रूपये (दो करोड चौसठ लाख रूपये) को 102 CrPC के अंतर्गत जब्त कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। साथ ही भिलाई भट्ठी पुलिस ने घटना के संबंध में आयकर विभाग को इसकी सूचना दे दी है।

bulandmedia

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button